Why we use Star Delta starter ।। स्टार डेल्टा स्टार्टर की जरूरत

दोस्तों आज हम मोटर को चलाने के लिए स्टार डेल्टा स्टार्टर का उपयोग क्यों करते हैं? यह जान लेंगे। Star Delta Starter importance in hindi

दोस्तों यह प्रश्न काफी काफी जरूरी है, क्युकी यह आपसे इलेक्ट्रिकल के इंटरव्यू में काफी ज्यादा पूछा जाता है। तो आपको इलेक्ट्रिकल इंटरव्यू के अंदर क्या जवाब देना है, वह भी आज हम जान लेंगे।

इसका जवाब मैं आपको प्रैक्टिकल तरीके से दूंगा, जिससे आपको यह काफी आसानी से समझ में आ जाएगा

उदाहरण-  जैसे हमारे पास एक मोटर है। जो कि 3 फेस सप्लाई की से चलती है। अब इस मोटर को चलाने के लिए मैं काफी तरीके उपयोग में ले सकता हु। जैसे- DOL Starter, Star Delta Starter या फिर Soft Starter आदि।

दोस्तों कई जगह हम स्टार डेल्टा स्टार्टर की जगह Soft Starter का भी उपयोग लेते हैं, लेकिन अधिकतर हम स्टार डेल्टा स्टार्टर को ही उपयोग में लेते हैं।

लेकन जो हमारी मोटर ज्यादा ही बड़ी होती है। जो HT लाइन से चल रही होती है मतलब हाई वोल्टेज से चलती है। उस मोटर के लिए हम सॉफ्ट स्टार्टर का उपयोग करते हैं।

दोस्तों अब हम यह जान लेते है की हमें स्टार डेल्टा स्टार्टर कौनसी मोटर पर लगाना चाहिए, यह प्रश्न इंटरव्यू में भी पूछा जाता है।

What size of motor will we use star delta starter

दोस्तों आपको सिर्फ यह ध्यान रखना है की Star Delta Starter हम 7.5 KW या इससे बड़ी मोटर के लिए लगाते हैं।  7.5 KW का मतलब 10 HP। एक बात जरूर ध्यान रखिए, कई लोग बोलते हैं की 5 HP से बड़ी मोटर पर स्टार डेल्टा स्टार्टर लगाना जरूरी है, दोस्तों यह गलत है ऐसा नहीं है हम 7.5KW/10HP तक की मोटर DOL starter पर चला सकते है। 

उदाहरण- दोस्तों अगर मैं आपसे हमारी कंपनी का एक्सपेरिंस बताऊ, तो यहां पर हमने 30 HP की मोटर को भी हमने DOL Starter पर पिछले 3 साल से चला रखा है। दोस्तों ऐसा हमने इसलिए कर रखा है, क्योंकि हमारी जो यह 30 HP की मोटर है, उस मोटर को हम बार-बार बंद और चालू नहीं करते हैं। जब हमारी यह मोटर एक बार स्टार्ट हो जाती है, फिर यह 7-8 दिनों तक बिना रुके यह चलती रहती है। इसलिए दोस्तों हमने इस मोटर को DOL Starter पर चला रखा है। अगर हम इस 30 HP की मोटर को बार-बार DOL starter से बंद चालू करेंगे, तो हमारी मोटर कब की खराब हो जाती है। तो दोस्तों इसलिए कहा जाता है, की हमारी 10 HP की मोटर या फिर इसके ऊपर की मोटर को Star Delta Starter पर चलाना चाहिए। ताकि  हमारी मोटर खराब ना हो और जले नहीं। 

लेकिन दोस्तों अब यही हमारे मन में प्रश्न आता है कि हमारी मोटर DOL Starter से चलाने पर जल क्यों जाती है?

दोस्तों ऐसा इसलिए क्योंकि हमारी सभी मोटर में एक करंट होता है, जो की मोटर के लोड के अनुसार कम ज्यादा होता है। परन्तु इसके अलावा सभी मोटर के अंदर एक और करंट होता है, जिसको हम Inrush Current कहते है।

What is Motor Inrush Current

मोटर इनरश करंट क्या होता है?

दोस्तों हम इनरश करंट को दूसरे शब्दों में स्टार्टिंग करंट भी कहते है। इसको समझना काफी आसान है।

जैसे- हमारे पास एक मोटर है। इस मोटर को चालू करने के इसमें 3 फेस इलेक्ट्रिकल सप्लाई दी। अब यह मोटर जैसे ही स्टार्ट होगी तब यह मेरी मोटर उस शुरुवात के समय कितना करंट लेगी यही मोटर का स्टार्टिंग करंट मतलब इनरश करंट कहलाता है।

यह मोटर का स्टार्टिंग करंट हमेशा मोटर के रेटेड करंट से ज्यादा होता है। रेटेड करंट हमेशा मोटर की नेमप्लेट पर लिखा होता है। 

आप यह धयान रखे- मोटर का स्टार्टिंग करंट उसके रेटेड करंट से 3 से 4 गुना ज्यादा होता है। तीन से चार गुना का मतलब अगर कोई मोटर 10 से 15 एंपियर करंट ले रही होगी तो दोस्तों वही मोटर शुरूवात के समय 50 से 60 एंपियर करंट लेती है। परन्तु यह इतना करंट मोटर कंटिन्यू नहीं लेती है, यह सिर्फ स्टार्टिंग के कुछ सेकंड तक ही लेती है।

यह मोटर स्टार्टिंग के कितने सेकंड तक ज्यादा करंट लेगी, वह मोटर के रोटर की स्पीड पर डिपेंड करता है। जब तक मोटर का रोटर शुरू होने के बाद उसके Rated RPM तक नहीं पहुंच जाता है तब तक मोटर ज्यादा करंट लेती है।

जैसे- अगर हमारी मोटर के नेमप्लेट पर 2900 RPM लिखे हुए है। तो जब तक यह मोटर का रोटर 2900 RPM तक नहीं पहुंच जाता है, तब तक यह मोटर ज्यादा करंट लेगी।

स्टार डेल्टा स्टार्टर क्यों लगते है?

हम स्टार डेल्टा स्टार्टर का उपयोग इस स्टार्टिंग करंट(Inrush Current) को कम करने के लिए ही करते हैं। दोस्तो यह काफी ज्यादा जरूरी होता है, अगर इतना ज्यादा करंट हमारी मोटर की वाइंडिंग से निकलेगा तो मोटर की वाइंडिंग जल सकती है और  मोटर खराब हो सकती है। इसी समय दोस्तों हम स्टार डेल्टा स्टार्टर का उपयोग करते हैं। 

तो दोस्तों अब हम इस चीज को भी समझ लेते हैं की स्टार डेल्टा स्टार्टर के लगाने से हमारी मोटर का करंट कम कैसे हो जाता है।

star-delta-starter-motor-terminal-box

जब कभी आप मोटर की कनेक्शन प्लेट देखोगे तो उसके अंदर आपको 6 पॉइंट दिखेंगे। अब हम इसके कनेक्शन के समय इसको दो तरह से सप्लाई से जोड़ते है।

  1. Star Connection (स्टार कनेक्शन) 
  2. Delta Connection (डेल्टा कनेक्शन)

Star Connection (स्टार कनेक्शन) 

जब हम मोटर को स्टार में जोड़ते हैं, तो हम इसके एक साइड के तीनो प्वाइंटों को शार्ट कर देते हैं और बाकि बचे तीनो पॉइंट पर हमारी इलेक्ट्रिकल की सप्लाई जोड़ देते है।

Star connected motor in hindi

दोस्तों इस समय असलियत में मोटर में अंदर की जो वाइंडिंग है वह तीनो आपस में शॉर्ट हो जाती है, और फिर हम बाकि के पॉइंट पर सप्लाई देते है तो हमारे मोटर की हर वाइंडिंग में 220 वोल्टेज यानी सिंगल फेस मिल रहा होता है। इस तरह स्टार कनेक्शन में मोटर की हर एक वाइंडिंग को सिंगल फेस मिल जाता है।

Delta Connection (डेल्टा कनेक्शन)

मोटर के डेल्टा कनेक्शन में हम हमारी कनेक्शन प्लेट के 6 पॉइंट में, आमने सामने वालों को पत्ती लगाकर शॉर्ट कर देते हैं। और फिर सभी पॉइंट हम इलेक्ट्रिकल सप्लाई देते हैं।

Delta connected motor in hindi

मतलब डेल्टा कनेक्शन के समय मोटर की हर वाइंडिंग को 2 फेस मिल रहे होते हैं मतलब हर एक वाइंडिंग में इस समय 415 वोल्टेज जाते है।

Why we use Star Delta starter

हम स्टार डेल्टा स्टार्टर क्यों लगाते हैं?

अगर आप इंटरव्यू इंग्लिश में दे रहे हो तो आप यह लाइन को बोल सकते है।

  • Star Delta Starter is used to reduce the motor starting current(Inrush Current). Initially we connect motor winding in star but when motor RPM comes 70-80% of rated RPM we change motor connection into delta connection.

और अगर आप इंटरव्यू हिंदी में दे रहे हो तो, आप यह लाइन को बोल सकते है।

  • स्टार डेल्टा स्टार्टर का उपयोग हम मोटर के स्टार्टिंग करंट(इनरश करंट) को कम करने के लिए करते है। मोटर को शुरुवात में चलाते समय हम उसको स्टार में चलाते हैं और जब हमारी मोटर का RPM 70 से 80% तक आ जाता हैं। तब हम हमारी मोटर को स्टार से हटाकर डेल्टा में जोड़ देते हैं। ताकि हमारी मोटर की वाइंडिंग स्टार्टिंग करंट से खराब नही हो।

 यह भी पढ़े (Also read) 
मोटर को स्टार कनेक्शन में चलाए या डेल्टा
Motor Types कितने प्रकार की होती हैं

तो दोस्तो उम्मीद है आज आपके Why we use Star Delta Starter से जुड़े कई सवालो के जवाब मिल गए होंगे। अगर आपके अभी भी कोई सवाल इंजीनियरिंग से जुड़े है, तो आप हमे कमेन्ट करके जरूर बताये।

इंजीनियरिंग दोस्त (Engineering Dost) से जुड़ने के लिए आपका धन्यवाद।

अगर आप इलेक्ट्रिकल की वीडियो हिन्दी मे देखना पसन्द करते है, तो आप हमारे YouTube Channel इलेक्ट्रिकल दोस्त को जरूर विजिट करे।

9 COMMENTS

  1. Thanks sir , apke dwara di gai jankari se mujhe bahot kuch sikhne ko mil raha hai, aur mere saare daught clear ho rahe hai, aur apke electrical dost youtube channel se bhi bahot achhi jankari milti hai… Thanks again😊😊

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here