Power Factor पॉवर फैक्टर

दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम इलेक्ट्रिकल में सुने जाने वाले Power Factor के ऊपर बात करेंगे।  जैसे की पावर फैक्टर क्या होता है, यह कितने प्रकार का होता है। और साथ में हम इस power factor को कैसे सही कर सकते है, यह सभी जान लेंगे।  

What is Power Factor in Hindi

पॉवर फैक्टर क्या होता है?

पॉवर फैक्टर(Power Factor) का मतलब अगर आप आसान शब्दो में समझे तो आपको यह तो पता है, कि अगर हम किसी भी उपकरण को चलाते है तो उसे वायर से जोड़ते है। और फिर उसको वायर के माध्यम से सप्लाई देते है।

इसके अलावा आपने वोल्टेज और करंट यह दोनों नाम जरूर सुने होंगे। जब हम किसी भी उपकरण को चालू करते है, तो हम उस उपकरण में वायर की मदद से वोल्टेज ओर करंट दोनो देते है।

Current and Voltage Wave foam

आप एक बार वापस से सुने की वोल्टेज ओर करंट दोनो एक ही वायर से जाते है, ओर यह साथ साथ चलते है।

इसी बीच में आपको एक बात बताता हु की कभी भी DC (डायरेक्ट करंट) मे पावर फैक्टर नही होता है। ऐसा होने के पीछे का कारण फ्रीक्वेंसी है, DC मे फ्रीक्वेंसी(Frequency) नही होती है। या फिर यह कह सकते हो की DC में 0 HZ फ्रीक्वेंसी होती है। और AC मे फ्रीक्वेंसी होती है, इसलिए इसमे पावर फैक्टर भी होता है।

अगर INDIA की बात करे, तो यहाँ AC supply मे 50 Hz फ्रीक्वेंसी होती है।

What is Power Factor (पॉवर फैक्टर क्या होता है)

अब दोस्तो आपको पॉवर फैक्टर समझने से पहले कुछ बाते ओर पता होनी चाहिए। जैसे की जो हमारे करंट और वोल्टेज होते है, यह एक वेव फोम (waveform) में चलते है। जिसको आप फोटो मे देख सकते हो।

Current and Voltage Wave foam

दोस्तों हमारा Power Factor तभी खराब होता है, जब यह करंट ओर वोल्टेज दोनो की Waveform (वेव फोम) एक साथ में नहीं चलती है। मतलब यह जो आपने वेव फोम देखी, इसमें या तो करंट की वेव आगे हो जाए या पीछे रहे जाए।

Lagging power factor in hindi

अब आपके मन में यह प्रश्न रहेगा की ऐसा क्यों होता है, करंट वोल्टेज की Wave Form आगे पीछे क्यों होती है। 

तो दोस्तो ऐसा होने की वजह हमारे इलेक्ट्रिकल के अलग अलग प्रकार के लोड मतलब उपकरण है। क्योंकि हमारे इलेक्ट्रिकल में उपकरण 3 टाइप के होते है और वही हमारे करंट ओर वोल्टेज की वेव फोम मे अंतर को लाते है।

electrical load types

इसके अलावा आप एक बात का ध्यान रखे। जितना हमारे करंट ओर वोल्टेज की wave foam में अंतर होगा, उतना ही पावर फैक्टर खराब होता जाएगा

जैसे की आप मानो की यह दोनो ही वेव फोम एक साथ में स्टार्ट होकर साथ में ही खत्म हो रही है, तो इसका मतलब हमारा पावर फैक्टर बिलकुल सही है (पावर फैक्टर 1 है) जब हमारा पावर फैक्टर 1 होता है, तो इसे यूनिटी पावर फैक्टर (Unity Power Factor) कहते है। यह सबसे अच्छा पावर फैक्टर होता है। 

Capacitor panel for improve power factor
इसके अलावा जब करंट और वोल्टेज की वेव फोम साथ में शूरू ओर खत्म नही हो रही है, तो इसका मतलब अभी पावर फैक्टर खराब है। ऐसा होने पर हम सर्किट में कैपेसिटर को लगाकर उस वेव फोम को सही करते है।

पावर फैक्टर की परिभाषा

दोस्तों अगर आपसे कोई इंटरव्यू में power factor क्या होता है यह सवाल करता है?

तो आप उस समय सिर्फ एक लाइन में उत्तर दे सकते हैं। कि वोल्टेज और करंट की वेवफॉर्म में आई गड़बड़ी मतलब अंतर को ही हम पावर फैक्टर कहते है।

पावर फैक्टर को कैसे सही किया जाता है?

अभी तक आप Power Factor पावर फैक्टर क्या होता है यह समझ चुके हैं। लेकिन अब हम जानेंगे की पावर फैक्टर को किस तरह से सही किया जाता है। 

इसको समझने के लिएसबसे पहले आपको यह पता होना चाहिए, की आखिर हमारी इंडस्ट्री का पावर फैक्टर कौनसा है। क्युकी पावर फैक्टर भी तीन प्रकार के होते है। 

1. यूनिटी पावर फैक्टर यूनिटी पावर फैक्टर में हमारा पावर फैक्टर 1 होता है, मतलब इसमें हमारे वोल्टेज और करंट की वेब फॉर्म बिल्कुल साथ में स्टार्ट होती है और साथ में खत्म होती है। यह सबसे अच्छा पावर फैक्टर होता है।

खराब पावर फैक्टर दो तरह के होते हैं। 

  1. Lagging Power factor(लेगिंग पावर फैक्टर)
  2. Leading Power factor(लीडिंग पावर फैक्टर)

Power factor in hindi

Lagging power factor- यह पावर फैक्टर सबसे खराब पावर फैक्टर होता है, यह हमारे इंडक्शन लोड(मोटर) ज्यादा चलने के कारण आता है, और इसे सही करने के लिए हम कैपेसिटर को सप्लाई के साथ जोड़ देते हैं|

Leading Power factor- दोस्तों लीडिंग पावर फैक्टर तब होता है जब हम कैपेसिटर को सप्लाई से कुछ ज्यादा ही जोड़ देते हैं तब हमारा पावर फैक्टर माइनस में हो जाता है जैसे= -0.9 -0.8 

लीडिंग पावर फैक्टर सही करने के लिए हमें अनावश्यक कैपेसिटर को सप्लाई से हटाना चाहिए।


यह भी पढ़े(Also Read)
Earthing क्या होती है, क्यों जरूरी है?
इलेक्ट्रिकल केबल में सफेद पाउडर क्यों?
earthing and grounding में अंतर?

तो दोस्तो उम्मीद है, आज आपके Earthing और Grounding से जुड़े कई सवालो के जवाब मिल गए होंगे। अगर आपके अभी भी कोई सवाल इंजीनियरिंग से जुड़े है, तो आप हमे कमेन्ट करके जरूर बताये।

इंजीनियरिंग दोस्त (Engineering Dost) से जुड़ने के लिए आपका धन्यवाद। 🙂 

अगर आप इलेक्ट्रिकल की वीडियो हिन्दी मे देखना पसन्द करते है, तो आप हमारे YouTube Channel इलेक्ट्रिकल दोस्त को जरूर विजिट करे।

36 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here