What is ohm’s law ।। ओम का नियम क्या है

दोस्तो आज हम Ohm’s Law क्या होता है, ओम का नियम कहा उपयोग किया जाता है? इसके अलावा इलेक्ट्रिकल इंटरव्यू में अगर Ohm’s law के बारे में पूछा जाता है तब आपको क्या जवाब देना है, मतलब आज हम ओम के नियम को पूरी तरह से समझ लेंगे।

what is ohms law

सबसे पहले हम यह जान लेते है की इसका नाम Ohm’s Law क्यों रखा गया? इसका जवाब यह ही की इस लॉ को दुनिया के सामने रखने वाले इंसान जोज साइमन ओह्म थे। इनके ही नाम पर इस law को ohm’s law मतलब ओम का नियम कहा जाने लगा।

What is ohm’s law

ओम का नियम क्या है?

हम सभी को यह पता है की इलेक्ट्रिकल के अंदर मुख्य तीन चीज़े होती है।

1. वोल्टेज 2. करंट 3. रेजिस्टेंस। ओम का नियम हमे इन तीनो के बीच में क्या सम्बंध है यह बताता है।

सम्बंध का मतलब जैसे हमको पता है की 2+2=4 होते है, इसके अलावा 2×3=6 होते है। इसी तरह इलेक्ट्रिकल में वोल्टेज, करंट और रेजिस्टेंस इन तीनो के बीच में क्या सम्बंध है वह हमको ओम का नियम बताता है।

 Importance of Ohms law hindi 

ओम का नियम क्यों जरूरी है?

इसको हम बहुत ही आसान उदाहरण से समझ सकते है।battery-LED-ohms-law-1

जैसे- हमारे पास एक LED है। इस LED को चलने के लिए इसको 2 वोल्ट की सप्लाई चाइये। परन्तु समस्या यह है की हमारे पास 2 वोल्टेज की सप्लाई नही है, हमारे पास सिर्फ 9 वोल्टेज की बैटरी है। अगर हम सीधे इस 9 वोल्ट की बैटरी को LED से जोड़ देते है तो हमारी LED उसी समय खराब हो जाएगी। तो इस समय हम ओम के नियम की मदद से इस LED को चला सकते है।

battery-LED-ohms-law

जैसे हम सभी को पता है की सभी उपकरण पर उसका वोल्टेज और उसका करंट(एम्पेयर) लिखा होता है। इसी तरह हमारी LED पर भी 2V और 20 mA लिखा हुआ है। तो अब समय हम ohms law को आसानी से समझ सकते है।

दोस्तो Ohms Law की मदद से हम वोल्टेज, करंट और रेसिस्टेन्स तीनो में से किसी की भी वैल्यू को पता कर सकते है। पर इसके अंदर एक कानून है की हमको 2 वैल्यू पहले से पता होनी चाहिए।
जैसे- अगर हमको वोल्टेज का पता करना है, तब हमको बाकी की दो वैल्यू करंट ओर रेसिस्टेन्स पता होनी चाहिए।

 How to use Ohm’s Law 

ओम के नियम का उपयोग कैसे करते है?

अब हम हमारी 9 वोल्टेज की बैटरी से 2 वोल्ट की बैटरी को चलाएंगे।
जैसे मैने आपको बताया की हमे सिर्फ दो वैल्यू पता होनी चाहिए। तो अभी हमको LED के वोल्टेज और एम्पेयर दोनो पता है। अब हमको सिर्फ तीसरी वैल्यू रेसिस्टेन्स पता करना है और फिर हम सर्किट को आसानी से बना लेंगे।

Ohms-Law-formula-meaning-hindi

हमे ओम के नियम से तीन फॉर्मूला मिलते है, इसमे से अभी हम रेसिस्टेन्स के फार्मूला का उपयोग कर लेंगे। यह R=V/I है। (मतलब हमको वोल्टेज में करंट का भाग लगाना है।)

हम सबसे पहले वोल्टेज पता कर लेते है, तो हमारी बैटरी 9 वोल्ट की है परन्तु LED को 2 volt चाहिए।  9V-2V=7 (मतलब हमे 7 वोल्ट कम करना है।)
अब हम करंट पता कर लेते है, हमारी LED 20mA करंट लेती है, तो अब हम 20 मिली एम्पेयर को एम्पेयर मे बदल लेते है। इसके लिए हमको सिर्फ 20mA में 1000 का भाग लगाना है।
20mA/1000=0.02A

reistor-value-find

तो अब हमारे पास दो वैल्यू वोल्टेज और करंट आ चुका है। अब हम आसानी से रेसिस्टेन्स को निकाल लेंगे।

Resistance-formula

Resistance को निकालने के लिए हमको सिर्फ वोल्टेज के अंदर एम्पेयर का भाग करना है।
7V/0.02A=350 मतलब अगर हम इस सर्किट के अन्दर 350 वैल्यू का रेसिस्टेन्स लगा देते है, तो हमारी LED आसानी से चल जाएगी।

(जिस तरह अभी हमने ओम के नियम की मदद से रेसिस्टेन्स की वैल्यू का पता करा, इसी तरह हम वोल्टेज और करंट को भी पता कर सकते है।)

 Ohms Law Interview Question 

दोस्तो इंटरव्यू के अंदर 2 ही सवालों को ज्यादा पूछा जाता है।

  1. What is Ohm’s law (ओम का नियम क्या है)
  2. Meaning of V=I×R (V=I×R का मतलब)

तो हम इन दोनो सवालों के हिंदी और इंग्लिश दोनो में जवाब देख लेते है।

Ques- What is Ohm’s law?

Ans- Ohm’s Law shows the relationship between voltage, current and resistance in an Electrical Circuit.

प्रश्न- ओह्म का नियम क्या है?

उत्तर- ओम के नियम की मदद से हम इलेक्ट्रिकल में वोल्टेज, करंट और रेसिस्टेन्स इन तीनो के बीच के संबंध को आसानी से पता कर सकते है।


इसके बाद अगर वह ohm law फार्मूला पूछते है। तब आप V=I×R बता सकते है।

Ques- Meaning of V=I×R ?

Ans- electric current is proportional to voltage and inversely proportional to resistance.

प्रश्न- ओम लॉ V=I×R का क्या मतलब

उत्तर- V=I×R का मतलब यह है की किसी सर्किट में अगर रेसिस्टेन्स फिक्स है, मतलब वह कम ज्यादा नही हो रहा है। तब वोल्टेज के बढ़ने पर करंट भी बढ़ता है। परन्तु सर्किट में अगर रेसिस्टेन्स कम होता है तब हमारी करंट बढ़ जाती है, और रेजिस्टेंस के बढ़ने पर करंट कम हो जाती है।

 यह भी पढ़े (Also read) 
What is Corona Effect (कोरोना क्या है)
Motor Types कितने प्रकार की होती हैं

तो दोस्तो उम्मीद है आज आपके Ohm’s Law से जुड़े कई सवालो के जवाब मिल गए होंगे। अगर आपके अभी भी कोई सवाल इंजीनियरिंग से जुड़े है, तो आप हमे कमेन्ट करके जरूर बताये।

इंजीनियरिंग दोस्त (Engineering Dost) से जुड़ने के लिए आपका धन्यवाद। 🙂 

अगर आप इलेक्ट्रिकल की वीडियो हिन्दी मे देखना पसन्द करते है, तो आप हमारे YouTube Channel इलेक्ट्रिकल दोस्त को जरूर विजिट करे।

12 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here