What is MPCB Circuit Breaker in hindi

दोस्तों आज हम MPCB मतलब motor protection circuit breaker के ऊपर बात करेंगे। यह MPCB एक इलेक्ट्रिकल सर्किट ब्रेकर है। जिसका उपयोग हम मोटर को सुरक्षा देने के लिए करते है।

MPCB ज्यादातर कम रेटिंग की मोटर को सुरक्षा देने के लिए लगायी जाती है। यह भी आपको MCB की तरह ओवरलोड और शॉर्टसर्किट से सुरक्षा देती है, पर MPCB के अंदर आपको इन दोनों प्रोटेक्शन के अलावा और भी कई तरह की सुरक्षा मिल जाती है, तो आज हम इसी MPCB से जुडी कई जरूरी महत्वपूर्ण बाते जान लेंगे।

What is MPCB (MPCB क्या है)

MPCB एक इलेक्ट्रिकल सर्किट ब्रेकर है। जिसका पूरा नाम Motor Protection Circuit Breaker(मोटर प्रोटेक्शन सर्किट ब्रेकर) है। यह MPCB सिर्फ लौ वोल्टेज के लिए ही डिजाइन की गयी है, मतलब इसका इस्तेमाल सिर्फ 1000 वोल्टेज के नीचे ही किया जा सकता है।

Mpcb करंट कैपेसिटी- जैसा की मैंने आपको शुरुवात में बताया की एमपीसीबी का इस्तेमाल सिर्फ कम रेटिंग में ही उपयोग किया जाता है, क्योंकि यह मार्केट में आपको ज्यादा से ज्यादा 100 एम्पेयर तक ही देखने को मिलती है।

MPCB protection (एमपीसीबी से मिलने वाली सुरक्षा)

Mpcb एक स्पेशल सर्किट ब्रेकर है। जोकि मोटर की सुरक्षा के लिए बनाया गया है। अगर आप किसी मोटर पर सर्किट ब्रेकर लगाना चाहते है, तो कम वोल्टेज के अंदर सबसे बेस्ट MPCB ही है। यह आपकी मोटर को सभी फाल्ट से सुरक्षा दे देती है।

Motor-protection-circuit-breaker

Overload protection- Mpcb में आपको ओवरलोड प्रोटेक्शन मिल जाती है। इसकी सहायता से कभी आपकी मोटर सेट एम्पेयर से ज्यादा करंट लेती है, तो एमपीसीबी उस समय आटोमेटिक ट्रिप हो जाएगी।

Short circuit Protection- यह शार्ट सर्किट प्रोटेक्शन तब काम आता है, जब हमारे सप्लाई वायर आपस में भीड़ जाते है। जैसे कभी कोई एक फेज और दूसरा फेज आपस में टच हो गए या फेज न्यूट्रल आपस में भीड़ गए। तो इस समय MPCB हमे सुरक्षा देती है।

लेकिन दोस्तो आपको पता होने चाहिए, की ओवरलोड और शॉर्टसर्किट यह दोनो सुरक्षा आपको MCB, MPCB दोनो के अंदर ही मिल जाती है। पर अब हम जिस प्रोटेक्शन की बात करँगे वो आपको सिर्फ MPCB में ही मिलेगी।

Unbalance load- Mpcb के अंदर आपको अनबैलेंस लोड की सुरक्षा मिलती है, जैसे अगर आपका लोड एक फेज में ज्यादा और दूसरे में कम करंट ले रहा है, तो इस समय MPCB ऑटोमैक्स ट्रिप हो जाती है जिससे उपकरण को सुरक्षा मिल जाती है। 

Phase loss(फेज लोस्स)- यह प्रोटेक्शन काफी ज्यादा जरूरी है। क्योंकि अगर 3 फेज से चलने वाली मोटर कुछ समय गलती से 2 फेज सप्लाई पर चल जाती है, तो उस मोटर की वाइंडिंग जलने के पूरे पूरे चांस होते है। इसके अलावा अगर कभी 3 फेज सप्लाई में से एक फेज नही आता है, तो उस समय एमपीसीबी Phase Loss से हमे प्रोटेक्शन देती है।

Mpcb benefits (एमपीसीबी के फायदे)

  • Mpcb के अंदर ऑक्सलरी कांटेक्ट को लगाया जा सकता है। मतलब आप इसके अंदर NO NC के ब्लॉक लगाकर आसानी से कही भी उपयोग में ले सकते है। किसी किसी एमपीसीबी के अंदर आपको NO NC साथ में ही मिल जाते है और किसी में आपको यह जरूरत अनुसार ऊपर से लगाने होते है।
  • एमपीसीबी के अंदर हमे इंडिकेटर मिल जाता है, जिसकी मदद से हमे यह पता चल जाता है की MPCB किसी ने बंद की है या फिर यह ऑटोमैटिक ट्रिप हुई है।
  • MPCB के अंदर हमे Test बटन मिल जाता है। इस टेस्ट बटन को दबाकर हम mpcb को चेक कर सकते है, की वह सही है या फिर खराब।
  • इसके अलावा मोटर प्रोटेक्शन सर्किट ब्रेकर के अंदर हमे Auto Reset का ऑप्शन मिल जाता है। इसकी मदद से कभी अगर mpcb फाल्ट के समय ट्रिप होती है तो वह कुछ समय तक ऑटो में ऑन नही हो पाती है, जब तक की वह ठंडी ना हो जाए। यह सुरक्षा के नजर से काफी ज्यादा महत्वपूर्ण है।
  • Mpcb के अंदर हमे एम्पेयर एडजस्ट करने का पोर्ट मिल जाता है। इसकी मदद से हम सर्किट ब्रेकर के एम्पेयर को अपनी जरूरत के अनुसार सेट कर सकते है।

यह भी पढ़े(Also Read):-

तो दोस्तो उम्मीद है, आज आपके MPCB से जुड़े कई सवालो के जवाब मिल गए होंगे। अगर आपके अभी भी कोई सवाल इंजीनियरिंग से जुड़े है, तो आप हमे कमेन्ट करके जरूर बताये।

इंजीनियरिंग दोस्त (Engineering Dost) से जुड़ने के लिए आपका धन्यवाद।

अगर आप इलेक्ट्रिकल की वीडियो हिन्दी मे देखना पसन्द करते है, तो आप हमारे YouTube Channel इलेक्ट्रिकल दोस्त को जरूर विजिट करे।

8 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here