रोटर स्लॉट को तिरछा क्यों रखा जाता है?

0

अगर आप इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग फील्ड से है, तो आपको पता ही होगा कि मोटर से जुड़े काफी सवाल हमसे एग्जाम और इंटरव्यू में पूछे जाते है।

लेकिन दोस्तों मोटर से जुड़ा एक सवाल जिस पर ज्यादातर लोग ध्यान नहीं देते, वह है की इंडक्शन मोटर के रोटर में स्लॉट को तिरछा क्यों रखा जाता है? तो आज हम इस पोस्ट में इसी सवाल का जवाब आपको आसान शब्दो में देंगे।

तो चलिए सबसे पहले यह जान लेते है की स्लॉट क्या होते है और यह क्यों बनाये जाते है? फिर हम यह भी जान लेंगे की आखिर स्लॉट को तिरछा क्यों रखा जाता है?

स्लॉट क्या होते है?

What are the Slot?

दोस्तों रोटर या फिर स्टेटर दोनों में ही स्लॉट बने होते है। जैसे की आप निचे फोटो में देख सकते है की हमारे रोटर और स्टेटर के अंदर वाइंडिंग रखने के लिए खाँचो से स्पेस बनाया जाता है।

rotor-slot

वाइंडिंग रखने के लिए ये जो स्पेस बनाया जाता है, इसे ही हम स्लॉट कहते है। यानी की स्लॉट के अंदर हम वाइंडिंग रखते है। लेकिन दोस्तों अब आप लोगो के मन में यह सवाल आ रहा होगा की स्टेटर में तो वाइंडिंग होती है इसलिए स्लॉट बनाये जाते है, लेकिन रोटर के अंदर तो कोई वाइंडिंग नहीं होती फिर उसमे स्लॉट क्यों बनाये जाते है?

रोटर पर स्लॉट क्यों बनाये जाते है?

Why Slot are made on Rotor?

तो दोस्तों ऐसा नहीं है रोटर के अंदर भी वाइंडिंग की जाती है। आपको आगे से हमेशा ध्यान रखना है की रोटर के अंदर वाइंडिंग तो की जाती है, लेकिन रोटर के अंदर हम कॉपर वायर से वाइंडिंग नहीं करते बल्कि कॉपर की स्ट्रिप यानि कॉपर की पट्टियों से वाइंडिंग करते है।

rotor-bar

आप निचे देख कर आसानी से समझ सकते हो की हमारा असली रोटर कैसा होता है और उसमे कैसे स्लॉट्स बने होते है। इन स्लॉट के अंदर हम कॉपर स्ट्रिप या कॉपर बार रखते है। हम यहां वाइंडिंग को ना करके कॉपर बार को स्लॉट में रखते है और उनको सॉर्ट कर देते है। जिससे वो वाइंडिंग की तरह काम करते है।

rotor-slots

तो दोस्तों आपको यहां से एक बात तो क्लियर हो गयी है, की रोटर में स्लॉट क्या होते है और क्यों बनाये जाते है। चलिए अब हमारे मैन सवाल को समझ लेते है की आखिर रोटर में स्लॉट को तिरछा क्यों रखा जाता है।

रोटर में स्लॉट को तिरछा क्यों रखा जाता है?

दोस्तों जब आपसे पूछा जाए की रोटर स्लॉट को तिरछा क्यों रखते है, तो आपको सबसे पहले यह कहना है की चाहे कोई भी इंडक्शन मोटर हो जैसे- स्लिप रिंग मोटर या फिर स्क्वैरल-केज मोटर दोनों में ही रोटर स्लॉट को तिरछा रखा जाता है।slip-ring-rotor

दोस्तों आप जब यह लाइन इंटरव्यू में बोलोगे तो आपसे आगे पूछा जायेगा की स्लिप-रिंग रोटर और स्क्वैरल-केज रोटर में क्या अंतर होता है? तो आपको जवाब देना है, की स्लिप रिंग के अंदर हम रोटर स्लॉट में कॉपर वायर की वाइंडिंग करते है जो की शार्ट नहीं होती। जबकी स्क्वैरल-केज के अंदर हम स्लॉट के अंदर कॉपर बार रखते है जो की शार्ट करते है।

फिर आपको आगे बोलना है, की रोटर में स्लॉट तिरछे रखे जाने के पीछे चार मुख्य कारण आते है:-

  1. Increased starting torque(इन्क्रिस्ड स्टार्टिंग टॉर्क)
  2. Prevents Cogging(प्रिवेंट कोग्गिंग)
  3. Prevents Crawling(प्रिवेंट क्रॉलिंग)
  4. Humming Sound(हमिंग साउंड)

Increased starting torque: रोटर के स्लॉट तिरछे रखने की वजह से हमारी मोटर का स्टार्टिंग टॉर्क बढ़ जाता है। टॉर्क का मतलब होता है हमारी मोटर पर लगने वाला प्रेशर जिसकी वजह से हमारी मोटर घूमती है। स्लॉट तिरछे रखने से हमारी मोटर पर ज्यादा फाॅर्स लगता है, जिसकी वजह से हम ज्यादा लोड जोड़ कर भी मोटर को स्टार्ट कर सकते है।

RPM Torque difference in motor

अब सभी के मन में यह सवाल आ रहा रहा होगा की, आखिर स्लॉट तिरछे रखने से टॉर्क कैसे बढ़ रहा है? तो दोस्तों आपको सिम्पल सी यह बात ध्यान में रखनी है की जब हमारी करंट घटती है तो हमारा टॉर्क बढ़ता है।

जब हम रोटर के स्लॉट को तिरछा रखते है, तो उसमे जो कॉपर स्ट्रिप तिरछा होने के कारण लम्बाई बढ़ जाती है, और हमे पता है की जब किसी चीज़ की लम्बाई बढ़ती है तो उसका रेजिस्टेंस बढ़ जाता है। रेजिस्टेंस जितना ज्यादा होता है उतना ही कम करंट फ्लो होता है।

यानी की स्लॉट तिरछा लेने पर रेजिस्टेंस बढ़ता जिस कारण करंट कम होगा और टॉर्क बढ़ जाता है। इसलिए रोटर स्लॉट को तिरछा रखते है।

Prevents Cogging: रोटर में स्लॉट को तिरछा रखने पर कोग्गिंग से बचने में मदत मिलती है। कोग्गिंग एक तरह की मैगनेटिक लॉकिंग होती है, जिसमे रोटर जाम हो जाता है यानि की घूमना बंद कर देता है। जब हमारे रोटर के स्लॉट और स्टेटर के स्लॉट बराबर हो जाते है, तो उस समय मैगनेटिक लॉकिंग की स्थिति उत्पन हो जाती है।

Cogging-in-motor

उदारहण के लिए हमारे रोटर में पांच स्लॉट है और स्टेटर में भी पांच स्लॉट है, तो उस समय हमारे स्टेटर से बनने वाला मैगनेटिक फ्लक्स रोटर से बनने वाले मैगनेटिक फ्लक्स से कैंसिल हो जाता है और हमारा रोटर एक तरह से लॉक हो जाता है, यानि की घूमना बंद कर देता है। इस स्थिति को ही हम कोग्गिंग कहते है।

तो दोस्तों आपको एक बात का ध्यान रखना है की रोटर के स्लॉट तिरछे होने से कोग्गिंग से बचने में मदत मिलती है।

Prevents Crawling: दोस्तों आपको यह तो पता होगा की हमारी मोटर नॉन-लीनियर लोड होती है। नॉन-लीनियर लोड हमेशा हार्मोनिक उत्पन करता है। हार्मोनिक हमारे एक तरह से इलेक्ट्रिकल डिस्टर्बेंस होते है जिनके कारण हमारी मोटर की स्पीड कम हो जाती है। अगर हमारी मोटर 1000 RPM पर रन हो रही है तो हार्मोनिक के कारण मोटर की स्पीड 300 RPM, 400 RPM हो जाती है।

induction-motors-harmonics

इसलिए रोटर के स्लॉट तिरछे रखे जाते है ताकि मोटर में जितने भी हार्मोनिक पैदा होते है, उनको खत्म कर सके।

Humming Sound: रोटर के स्लॉट को तिरछा लेने पर एक फायदा यह भी हो जाता है की मोटर की अंदर घूमने के कारण जो हमिंग साउंड उत्पन होती है, वह भी कम हो जाती है।


तो दोस्तों इस पोस्ट के अंदर हमने यह जान लिया की रोटर में स्लॉट क्या होते है और स्लॉट को तिरछा क्यों रखा जाता है। अगर अभी भी कोई सवाल रह जाता है तो आप इस पोस्ट के नीचे कमेंट करके बता सकते है या फिर हमे इंस्टाग्राम Electrical Dost” पर भी अपना सवाल भेज सकते है।

अगर आपको इलेक्ट्रिकल की वीडियो देखना पसंद है तो आप हमारे चैनल Electrical Dostपर विजिट कर सकते है।

मिलते है अगली पोस्ट में तब तक के लिए धन्यवाद 🙂

पिछला लेखफेराइट बीड (Ferrite Bead) क्या है, कैसे काम करती है ?
अगला लेखलाइटनिंग अरेस्टर और सर्ज अरेस्टर क्या होते है?
Aayush Sharma is an Assistant Engineer in a Semi-Government Company and Owner of "Engineering Dost" and the Electrical Dost YouTube Channel. He Provides you Engineering inquiry and support of engineering market facts with Practical experience.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें