What are the types of the fan in Hindi

0
types-of-fan-hindi

नमस्कार दोस्तों, आज की इस पोस्ट के अंदर हम लोग बात करने वाले है की फैन कितने प्रकार के होते है और कहाँ पर कौनसा फैन उपयोग करना उचित रहेगा? यह सवाल इंटरव्यू में भी पूछा जा सकता। तो चलिए हम सभी फैन को एक एक कर जान लेते है।

Ceiling Fans  :

दोस्तों हमारे घरो में छत पर जो फैन लगे हुए होते है, उन्हें ही ceiling fans कहते है। ceiling fans लगभग सभी के घरो में होते है। ceiling fans भी अलग अलग तरह के देखने को मिल जाते है, जैसे की: 2 blade, 3 blade, 4 blade, 5 blade ceiling fans.all type of celling fans

दोस्तों फैन में जितने ज्यादा ब्लेड होते है, उसके ऊपर उतना ही वजन बढ़ जाता है, और वो उतनी ही कम स्पीड से घूमता है। यानी की 2 ब्लेड वाला फैन 3 ब्लेड या फिर 4 ब्लेड वाले फैन के मुकाबले ज्यादा स्पीड से घूमेगा। अब आप लोग कहेगे की फिर 5 ब्लेड वाला फैन तो बहुत कम स्पीड से घूमेगा तो फिर उसको उपयोग में ही क्यों लेते है।

दोस्तों 5 ब्लेड वाले फैन का उपयोग वहाँ किया जाता है जहाँ पहले से A.c लगा हुआ हो, या फिर ठंडी जलवायु होती है। क्योंकि ये फैन कम स्पीड से घूमता है और इसका उपयोग हवा देने के लिए नहीं बल्कि ठंडी हवा को पुरे कमरे में फैलाने के लिए होता है। वही अगर हम बात करे 3 या 2 ब्लेड वाले फैन की तो उनका उपयोग गर्म जलवायु वाले जगह किया जाता है और  इसका उपयोग हवा देने के लिए करते है। जैसे की इंडिया में ज्यादातर जगहों पर गर्म जलवायु ही पायी जाती है इसलिए यहाँ 3 ब्लेड वाले फैन का ही उपयोग होता है।

Table Fan :

दोस्तों टेबल फैन  को हम टेबल पर रख चला सकते है। ये फैन छोटे है, और किसी भी टेबल पर आसानी से रखकर चलाये जा सकते है।

table fan

ये काफी सस्ते होते है, और इनको चलाने के लिए कम पावर की जरूरत होती है। इनको हम उठा कर कहीं पर भी लगा सकते है। लेकिन ये केवल एक या दो लोगो को ही हवा दे सकते है।

Pedestal Fan :

दोस्तों ये फैन एक स्टैंड पर लगाए जाते है, जैसे की हमारे टेबल फैन को हम किसी टेबल पर रख कर उपयोग करते है, वैसे ही हम इन फेन को एक रोड पर या स्टैंड पर लगाते है। जैसा आप निचे इसके फोटो में देख सकते है की किस प्रकार से हमने फैन को एक रोड पर सेट किया है। दोस्तों हम इनकी हाईट को भी घटा या फिर बड़ा सकते है।

pedestal-fan

इनको भी हम टेबल फैन की तरह कहीं पर लगा सकते है और जब चाहे हटा सकते है। लेकिन दोस्तों इसको लगाने के लिए हमे थोड़ा एरिया चाहिए होता है लेकिन जब जरूरत न हो तो इनको स्टोर या फिर खाली जगह में भी रख सकते है। pedestal fan भी 2 ब्लेड और 3 ब्लेड, 4 ब्लेड में आते है। इनकी स्पीड काफी ज्यादा होती है।

Exhaust Fan :

exhaust-fan

दोस्तों ये फैन हमारे रसोई या फिर बाथरूम के अंदर लगाया जाता है। इसका काम हवा देना नहीं होता बल्कि अंदर की हवा को बाहर निकालना होता है। इनका साइज बहुत कम होता है। ये बहुत ही कम पावर का उपयोग करते है। दोस्तों हमे पता है की गर्म हवा ऊपर उठती है इसलिए हम गर्म हवा बाहर निकालने के लिए इनको कमरे या फिर रसोई में ऊपर की तरफ लगाते है।

Wall-Mounted Fan :

wall-mounted-fan 

दोस्तों इस तरह के फैन आपने ऑफिस या फिर रिसेप्शन पर लगे हुए देखे होंगे। ये फैन दिवार पर टंगे रहते है और घूमते हुए हवा देते है। दोस्तों इनके साथ एक डोरी भी लटक रही होती है जिसको खिंच कर इनकी स्पीड को बड़ा या घटा सकते है। इनका मुख्य काम रिसेप्शन पर बैठे सभी लोगो को बारी-बारी से हवा देना है।

Tower Fans :

tower fans

दोस्तों जैसा की इसके नाम से ही पता चलता है की इनकी लम्बाई टावर की तरह काफी ज्यादा होती है। इन फैन के अंदर कोई ब्लेड नहीं लगा होता बल्कि एक रोटर लगा होता है। दोस्तों इनका उपयोग हवा को फ़िल्टर करने और हवा को रूम में फैलाने के लिए करते है। इनमे रोटर नहीं होता इसलिए ये ज्यादा तेज़ हवा नहीं देते। अगर कम जगह हो तो इन फैन का उपयोग कर सकते है ये ठंडी हवा के साथ हवा को फ़िल्टर भी करते है लेकिन ये काफी महँगे होते है।

Misting Fan :

misting-fan

दोस्तों अगर A.c लगाने का बजट नहीं होता, तो उस समय misting fan का उपयोग करते है। ये फैन दिवार पर टंगे या फिर टेबल पर रखे होते है। लेकिन इनकी ख़ास बात ये है की इनके पीछे से एक पतली पानी की पाइप आ रही होती है जिससे कूलर की तरह ही इसमें से ठंडी हवा निकलती है। इसलिए ये भीड़ भाड़ वाली जगह या फिर खुली ओपन जगह जहाँ तापमान बहुत बढ़ गया हो लेकिन A.c का उपयोग नहीं कर सकते वहाँ misting fan उपयोग किया जाता है।

Industrial Fan :

Industrial-fan 

दोस्तों ये फैन बड़ी-बड़ी इंडस्ट्रीज जहाँ तापमान बहुत ज्यादा हाई रहता है। वहां इन फैन को लगाया जाता है ये बहुत ज्यादा तेज़ हवा देते है, जिससे इंडस्टी का तापमान ज्यादा नहीं बढ़ता। दोस्तों अगर आप नार्मल फैन और इंडस्ट्रियल फैन में अंतर पूछे तो इंडस्ट्रियल फैन ज्यादा प्रेशर, बड़े आकर और हाई मेकनिकल स्ट्रेंथ के बनाये जाते है ताकि ये ज्यादा से ज्यादा हवा को दे सके।


तो दोस्तों उम्मीद है की आपके सारे सवालों के जवाब मिल गए होंगे अगर फिर भी कोई सवाल रह गया हो तो हमे कमेंट में बताना न भूले। अगर आप इलेक्ट्रिकल से जुडी वीडियो देखना पसंद करते है तो हमारे चैनल (Click Here) सब्सक्राइब कर सकते है।

पिछला लेखElectrician Job Interview Questions Answers Hindi
अगला लेखफैन में दो वाइंडिंग क्यों की जाती है?
Aayush Sharma is an Assistant Engineer in a Semi-Government Company and Owner of "Engineering Dost" and the Electrical Dost YouTube Channel. He Provides you Engineering inquiry and support of engineering market facts with Practical experience.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें