फेराइट बीड (Ferrite Bead) क्या है, कैसे काम करती है ?

0
what-is-ferrite-bead

दोस्तों आपने अपने लैपटॉप, कंप्यूटर या फिर टीवी की केबल के साथ एक सिलेन्डर जुड़ा हुआ तो जरूर देखा होगा। जैसा निचे फोटो में काले रंग का सिलेण्डर है।

what is Black cylinder or ferrite bead

लेकिन अगर आपसे पूछा जाए की आखिर ये सिलेन्डर क्या होता है, इसको टेक्निकल भाषा में क्या कहते है, और यह आखिर कैसे काम करता है, तो शायद कुछ ही लोग इसका जवाब दे सकेंगे। जबकि ये सवाल काफी इम्पोर्टेन्ट है क्योकि कई बार इससे जुड़े सवाल इंटरव्यू में पूछ लिए जाते है। तो चलिए जल्दी से हम जान लेते है की, इस सिलेन्डर को टेक्नीकल भाषा में क्या कहते है और ये इतना ज्यादा जरुरी क्यों है?

चार्जर में ब्लैक सिलेन्डर क्या होता है?

What is Black cylinder in charger?

दोस्तों केबल के अंदर जो ब्लैक सिलेन्डर जुड़ा होता है, उसे हम टेक्निकल भाषा में फेराइट बीड (Ferrite Bead) कहते है।

what is Black cylinder or ferrite bead दोस्तों फेराइट बीड का काम अगर हम आसान भाषा में समझे तो, इसका काम होता है हाई फ्रीक्वेंसी की तरंगो और नॉइज़ को रोकना है। दोस्तों नॉइज़ ऐसे सिगनल होते है, जो हमारे मैन सिगनल में मिक्स हो जाते है, लेकिन ये सिगनल हमारे किसी काम के नहीं होते, और हमारे मैन सिगनल को भी डिस्टर्ब करते है।

दोस्तों अब आपके मन में यह सवाल आ रहा होगा की आखिर फेराइट बीड कैसे नॉइज़ को हमारे मैन सिगनल से फिलटर करता है? तो चलिए दोस्तों इसकी वर्किंग को भी समझ लेते है।

फेराइट बीड कैसे काम करता है?

 How does Ferrite Bead work?

दोस्तों फेराइट बीड फैराडे के म्यूच्यूअल इंडक्शन प्रिंसिपल पर काम करता है। अगर आपको फैराडे का नियम नहीं पता तो एक बार फैराडे का नियम देख लेते है।

फैराडे का नियम: जब कोई कंडक्टर इस तरह की मैगनेटिक फिल्ड में रखा हो, जो की समय के साथ चेंज हो रही है, तो उस कंडक्टर में एक EMF उत्पन हो जाता है।

अब अगर हम बात करे फेराइट बीट की तो ये एक चुंबकीय मटेरियल का बनाया हुआ सिलेंडर होता है। इस सिलेंडर के अंदर कॉपर वायर की एक हाई इंडक्टेन्स वाली कोइल होती है। जब इस कोइल में से हाई फिक्वेंसी की तरंगे पास होती है, तो फैराडे के नियम के अनुसार इस कोइल में एक EMF उत्पन हो जाता है, और करंट फ्लो होने लगती है।

ferrite from inside

ध्यान दे: यह करंट नॉइज़ और हाई फ्रीक्वेंसी सिगनल के कारण उत्पन होती है।

दोस्तों ये करंट जो की नॉइस और हाई फ्रीक्वेंसी तरंगो से उत्पन हुई है, यह नॉइस और हाई फ्रीक्वेंसी तरंगो को पूरी तरह से हीट ऊर्जा में बदल देती है, और इस तरह से इनको हमारे मैन सिगनल से हटा देती है।

अब आप लोगो के मन में यह सवाल आयेगा की आखिर हमारे मैन सिगनल में हाई फ्रीक्वेंसी और नॉइज़ सिगनल आते कहा से है।

दोस्तों हमारे आस पास बहुत सारी हाई फ्रीक्वेंसी की तरंगे जैसे की मोबाइल सिगनल, रेडीओ सिगनल आदि मौजूद रहते है। इन सिगनल से हम हमेशा घिरे रहते है।
mobile radio wave

दोस्तों जब हम किसी कंडक्टर तार में करंट फॉलो करवाते है, तो उसके चारो तरफ इलेक्ट्रोमेग्नेटिक फिल्ड बन जाता है। ये इलेक्ट्रोमेग्नेटिक फिल्ड एक एंटीना की तरह काम करता है, मतलब की हमारे आस-पास जितने भी मोबाइल, रेडिओ के सिगनल होते है, उनको इलेक्ट्रोमेग्नेटिक फिल्ड पकड़ कर हमारे कंडक्टर तार में डाल देता है, जिससे हमारे मैन सिगनल में नॉइज़ आ जाता है।

अब आप लोग पूछोगे की नॉइज़ आने से क्या हमे कोई नुकशान हो सकता है। तो चलिए एक-एक करके नॉइज़ के आने से जितने भी नुकसान हो सकते है उनको समझ लेते है।

हाई फ्रीक्वेंसी और नॉइज़ से क्या नुकसान होते है?

What is Effect of High Frequency and Noise on system?

हाई फ्रीक्वेंसी से हानि:
दोस्तों हमारे उपकरण समान्यत 50Hz की फ्रीक्वेंसी पर काम करने के लिए ही बनाये जाते है। जब 50Hz से ज्यादा की frequency हमारे सिस्टम या उपकरण में आती है, तो हमारे उपकरण खराब भी हो सकते है।

नॉइज़ से नुकशान:
दोस्तों जैसा की हमने आपको ऊपर बताया था, की नॉइज़ ऐसे सिगनल होते है जो हमारे मैन सिगनल को डिस्टर्ब करते है। इसलिए नॉइज़ के आने से हमारे टी.वी की स्क्रीन फिल्कर हो सकती है, हमे अच्छे से स्क्रीन दिखाई ना दे या फिर यह भी हो सकता है, की नॉइज़ के कारण हमे कुछ साफ़ सुनाई न दे। दोस्तों ये सब नॉइज़ के कारण होता है।

बैटरी के चार्जिंग में समस्या:
दोस्तों हाई फ्रीक्वेंसी के कारण हमारी बैटरी चार्ज होने में बहुत ज्यादा समय लेती है या फिर चार्ज ही नहीं होती। दोस्तों हमने यह तो जान लिया की फेराइट बीड क्या है, कैसे काम करता है और क्यों जरुरी है। अब हम यह जान लेते है की फेराइट बीड कितने प्रकार की होती है।

फेराइट बीड कितने प्रकार की होती है?

Types of Ferrite Bead

फेराइट बीड दो प्रकार की होती है।

  1. Chip ferrite bead (चिप फेराइट बीट)
  2. Wire wound ferrite bead (वायर वाउन्ड फेराइट बीड)

Chip Ferrite Bead:
दोस्तों चिप फेराइट एक पुराना डिवाइस है, जो की हाई Frequency की तरंगो को दबाने या फिर कम करने के लिए उपयोग में आता है। चिप फेराइट की करंट रेटिंग भी बहुत कम होती है। अगर इसकी रेटिंग से अधिक करंट फॉलो होगी तो ये खराब भी हो सकता है।chip type ferrite

Wire Wound Ferrite Bead:
दोस्तों ये अधिक रेंज तक हाई Frequency की तरंगो को दबाने या फिर कम करने के लिए उपयोग में आता है। इसकी रेटिंग भी काफी ज्यादा होती है।

wire wound ferrite


तो दोस्तों उम्मीद है की फेराइट बीड से जुड़े आपके सारे सवालों के जवाब मिल गए होंगे अगर अभी भी कोई सवाल रह जाता है, तो आप इस पोस्ट के नीचे कमेंट करके बता सकते है या फिर हमे इंस्टाग्राम Electrical Dost” पर भी अपना सवाल भेज सकते है।

अगर आपको इलेक्ट्रिकल की वीडियो देखना पसंद है तो आप हमारे चैनल Electrical Dostपर विजिट कर सकते है।

मिलते है अगली पोस्ट में तब तक के लिए धन्यवाद 🙂

पिछला लेखट्रांसमिशन लाइन में हमिंग साउंड क्यों आती है?
अगला लेखरोटर स्लॉट को तिरछा क्यों रखा जाता है?
Aayush Sharma is an Assistant Engineer in a Semi-Government Company and Owner of "Engineering Dost" and the Electrical Dost YouTube Channel. He Provides you Engineering inquiry and support of engineering market facts with Practical experience.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें