इलेक्ट्रिकल फिल्ड और मैगनेटिक फिल्ड में क्या अंतर होता है?

0
electrical-field-vs-magnetic-field

नमस्कार दोस्तों आज की इस पोस्ट के अंदर हम बात करने वाले है की इलेक्ट्रिक फिल्ड और मैगनेटिक फील्ड क्या होती है, इसके साथ ही हम इलेक्ट्रिक फिल्ड और मैगनेटिक फिल्ड में क्या अंतर होता है इस पर भी बात करेंगे। दोस्तों यह पोस्ट इलेक्ट्रिकल से जुड़े हुए लोगो के लिए काफी इम्पोर्टेन्ट होने वाली है, क्योकि जब भी इंटरव्यू में इलेक्ट्रिक फिल्ड और मैगनेटिक फिल्ड के बारे में पूछा जाता है तो लोग अक्सर गलत जवाब देते है।

तो आखिर इसका सही जवाब क्या है वह हम इस पोस्ट में जान लेते है। तो चलिए सबसे पहले हम इलेक्ट्रिकल फिल्ड और मैगनेटिक फिल्ड क्या होती है इनको एक-एक करके समझ लेते है।

मैगनेटिक फिल्ड क्या होती है?

What is Magnetic Field?

चुंबक के आस पास का वो एरिया जो की चुंबक की तरह ही बिहेव करता है, उसे मैगनेटिक फिल्ड कहा जाता है। अगर सिंपल भाषा में समझे तो मैगनेटिक फिल्ड चुंबक के आस पास का वो एरिया होता है, जहा पर चुंबक का प्रभाव होता है। उस एरिया में अगर मेटल को लेकर जाते है तो वो चुंबक की तरफ आकर्षित होता है।

magnetic-field

मैगनेटिक फिल्ड दो तरह से उत्पन कि जा सकती है:

  1. permanent magnet
  2. electro-magnet

Permanent Magnet: परमानेंट मैगनेट वह मैगनेट होती है जिसमे स्थायी चुंबकीय गुण होता है, जैसे की बड़े स्पीकरों में जो मैगनेट होती है जैसे नीचे फोटो में दिखाया है वो भी परमानेंट मैगनेट होती है।

Permanent Magnet

परमानेंट मैगनेट भी अपने पास एक फिल्ड उत्पन करती है। जैसा की आप ऊपर फोटो में देख सकते है।

Electro-magnets: जब हम किसी कंडक्टर के ऊपर कॉपर वायर को लपेटकर उसमे करंट फ्लो करवाते है तो वह कंडक्टर चुंबक की तरह व्यवहार करता है। इसके चारो और एक फिल्ड उत्पन हो जाती है, जिसे इलेक्ट्रो मैगनेटिक फिल्ड कहते है।

electromagnetic-field

दोस्तों अब कई लोगो के मन में यह सवाल आएगा की क्या DC करंट फ्लो करवाने पर भी मैगनेटिक फिल्ड उत्पन होगी?

हम चाहे AC करंट फ्लो करवाए या DC करंट दोनों कंडीशन में मैगनेटिक फिल्ड उत्पन होगी। अभी तक हमने यह समझ लिया की मैगनेटिक फिल्ड क्या है और कितने तरह से उत्पन कि जा सकती है। अब हम इलेक्ट्रिकल फिल्ड के बारे में समझ लेते है।

इलेक्ट्रिक फिल्ड क्या होती है?

 What is Electric Field?

जब किसी कंडक्टर वायर में करंट फ्लो होती है तो उसके चारो और एक फिल्ड उत्पन हो जाती है जिसे कुछ लोग इलेक्ट्रिक फिल्ड कहते है, जो की पूरी तरह से गलत है क्युकी इसे इलेक्ट्रो-मैगनेटिक फील्ड कहा जाता है।

electromagnetic-field

तो फिर आखिर इलेक्ट्रिकल फिल्ड क्या है, उसको हम समझ लेते है।

वह फिल्ड जहां पर किसी चार्ज पर बल लगता है, वह इलेक्ट्रिक फिल्ड कहलाती है। इलेक्ट्रिक फिल्ड को आपने कई बार पहले भी फील कर रखा है। जिसका अगर में आपको एक कॉमन उदाहरण बताऊ:

तो बचपन में जब कभी आप स्केल को अपने बालो में रगड़ कर कागज के छोटे छोटे टुकड़ो के पास ले जाते थे, तो आपने देखा होगा की कागज के टुकड़े स्केल के चिपकने लग जाते थे। यह सब इलेक्ट्रिकल फिल्ड के कारण ही होता है। अब आपके मन में यह सवाल आएगा की आखिर यहा इलेक्ट्रिकल फिल्ड कैसे उत्पन हो गया?

scale-electric-field-example

तो दोस्तों जब आप स्केल को बालो में रगड़ते हो तो बालो से स्केल पर कुछ चार्ज पार्टिकल (इलेक्ट्रान) आ जाते है। इसलिए अब आप जब इस आवेशित स्केल (charged Scale) को कागज के टुकड़ो के पास लेकर जाते हो तो वह स्केल कागज को अपनी तरफ आकर्षित करती है।

electrical-field

चार्ज पार्टिकल क्या होते है और कैसे उत्पन होते है?

What is Charge Particle and how they are produced?

दोस्तों हमे यह तो पता है, की हर चीज़ छोटे से छोटे कणो से मिलकर बनी होती है। किसी ऑब्जेक्ट का छोटे से छोटा कण जिसको हम आगे और तोड़ नहीं सकते उसे परमाणु कहा जाता है। दोस्तों परमाणु को भले ही आगे तोडा ना जा सके लेकिन उसमे भी तीन चार्ज मौजूद रहते है।

  1. Electron
  2. Proton
  3. Neutron

प्रोटोन और न्यूट्रॉन दोनों परमाणु के केंद्र में रहते है लेकिन इलेक्ट्रान परमाणु की बाहर वाली कक्षा में रहते है। जैसा की आप निचे फोटो में देख सकते है।

atom

तो दोस्तों जब भी हम किसी चीज़ को रगड़ते है, तो घर्षण के कारण परमाणु में से इलेक्ट्रान बाहर निकल जाते है। जब किसी ऑब्जेक्ट में से इलेक्ट्रान बाहर निकल जाते है तो उस पर पॉजिटिव चार्ज आ जाता है और जितने इलेक्ट्रान बाहर निकले है उतने ही इलेक्ट्रान वह वस्तु वापस लेने की कोशिश करती है। और इसी इलेक्ट्रान को बैलेंस करने के लिए वह वस्तु अपने आप पास इलेक्ट्रिकल फील्ड जेनेरेट करती है।

वही अगर किसी वस्तु पर घर्षण के कारण इलेक्ट्रान आ जाते है, तो वह वस्तु नेगेटिव चार्ज हो जाती है, और उस कंडीशन में वह वस्तु इलेक्ट्रान बाहर निकालने के लिए अपने आप पास इलेक्ट्रिकल फील्ड जेनेरेट करती है।

दोस्तों हमने यह तो समझ लिया की चार्ज क्या होता है और कैसे उत्पन होता है। अब हम समझ लेते है की इलेक्ट्रिक फिल्ड कैसे उत्पन होता है?

इलेक्ट्रिक फिल्ड कैसे उत्पन होता है?

How Electric Field is produced? 

जैसा हमने ऊपर पहले से बताया है की जब कभी किसी वस्तु पर ज्यादा इलेक्ट्रान आ जाते है, तो वह इलेक्ट्रान बाहर निकालने की कोशिश करती है, और इसलिए ही जब हम बालो में स्केल को रगड़ते थे, तो बालो से स्केल पर एक्स्ट्रा इलेक्ट्रान आ जाते थे। positive-charge-on-scale

और फिर जब भी हम इस चार्जड स्केल को कागज के टुकड़ो के पास ले जाते थे, तो यह स्केल कागज के टुकड़ो को अपनी तरफ आकर्षित करने लगती थी। ताकि वह अपने एक्स्ट्रा इलेक्ट्रान कागज के टुकड़ो को दे सके।

तो दोस्तों अभी तक हमने इलेक्ट्रिक फिल्ड और मैगनेटिक फिल्ड क्या होता है इसे अच्छे से समझ लिया है। चलिए अब इलेक्ट्रिक फिल्ड और मैगनेटिक में क्या अंतर होता है, यह भी देख लेते है।

इलेक्ट्रिक फिल्ड और मैगनेटिक फिल्ड में क्या अंतर होता है?

What is difference between Electric field and Magnetic Field?

 इलेक्ट्रिक फिल्ड  मैगनेटिक फिल्ड 
यह चार्ज पार्टिकल के कारण उत्पन होती है।  यह मेगनेट के कारण उत्पन होती है। 
इसकी यूनिट न्यूटन पर कुलाम होती है।  इसकी यूनिट टेस्ला या guess होती है। 
यह एलेक्ट्रोमीटर का उपयोग करके मापा जाती है।  यह मेगनोमीटर का उपयोग करके मापा जाती है। 

 


उम्मीद है कि दोस्तों आपको सारे सवालों के जवाब मिल गए होंगे। लेकिन अगर फिर भी कोई सवाल रह जाता है, तो कमेंट में बता सकते है, और आप हमे इंस्टाग्राम पर भी अपना सवाल भेज सकते है Electrical Dost”

अगर आप इलेक्ट्रिकल कि वीडियो हिंदी में देखना पसंद करते है, तो आज ही हमारे चैनल को सब्सक्राइब करे Electrical Dost

मिलते है अगली पोस्ट में तब तक के लिए धन्यवाद 🙂

 

पिछला लेखकरंट और सिगनल क्या है, और उनमे क्या अंतर होता है
अगला लेखफिल्ड वाइंडिंग और आर्मेचर वाइंडिंग में क्या अंतर होता है?
Aayush Sharma is an Assistant Engineer in a Semi-Government Company and Owner of "Engineering Dost" and the Electrical Dost YouTube Channel. He Provides you Engineering inquiry and support of engineering market facts with Practical experience.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें