Battery and Capacitor difference and similarity

आज हम बैटरी और कैपेसिटर इन दोनों में क्या समानता है और इनमे क्या अंतर है यह जान लेंगे? Battery and Capacitor difference and similarity in hindi

दोस्तो सबसे पहले हम बैटरी और कैपेसिटर के अंदर क्या समानता है, यह जान लेते है।

Battery and Capacitor similarity 

(बैटरी और कैपेसिटर में समानता)

1. Both Battery and Capacitor can stored electrical energy.

मतलब- बैटरी और कैपेसिटर दोनो के अंदर इलेक्ट्रिकल एनर्जी इकठ्ठा होती है।
याद रखे- कई जगह ऐसा कहा जाता है की बैटरी के अंदर इलेक्ट्रिकल एनर्जी स्टोर होती है, लेकिन कैपेसिटर में इलेक्ट्रिकल चार्ज स्टोर होता है, यह बिल्कुल गलत है। आपको यह याद रखना है की बैटरी और कैपेसिटर दोनो में इलेक्ट्रिकल एनर्जी स्टोर होती है।

2. Both are generate Potential Difference in a circuit

मतलब- कैपेसिटर और बैटरी दोनो इलेक्ट्रिकल सर्किट में पोटेंशियल डिफरेंस पैदा करते है। पोटेंशियल डिफरेंस क्या होता है, इसे हम आसानी से समझ सकते है। 

What is Potential Difference 

(पोटेंशियल डिफरेन्स का मतलब)

दोस्तो इसको हम काफी आसानी से समझ सकते है।

जैसे- हमारे पास एक बैटरी है। हम सभी को यह पता है की बैटरी के अंदर दो पॉइंट होते है। एक पॉजिटिव पॉइंट और दूसरा नेगेटिव पॉइंट।
पोटेंशियल डिफरेंस को समझने के लिए हम मान लेते है की हमारे पास 9 वोल्ट की बैटरी है, मतलब हमारे बैटरी के (+) पॉइंट में 9 वोल्टेज है, और (-) पॉइंट मे 0 वोल्टेज है।

battery and capacitor difference with example

अब हमको इस 9 वोल्टेज बैटरी के साथ एक LED बल्ब को जोड़ना है, तो हम आसानी है LED को जोड़ देंगे।

तो दोस्तो ऐसा करते ही हमारे सर्किट में पोटेंशियल डिफरेन्स भी पैदा हो गया है।
वह कैसे- तो हमने LED के एक वायर पर 9 वोल्टेज जोड़े और दूसरे LED के दूसरे वायर पर 0 वोल्ट जोड़े। तो इस तरह हमारे इस सर्किट के दोनो वायर के बीच में वोल्टेज का अंतर पैदा हो गया है और इसे ही इलेक्ट्रिकल भाषा में पोटेंशियल डिफरेन्स कह सकते है।

याद रखे हमारी बैटरी ओर कपैसिटर दोनो ही सर्किट में पोटेंशियल डिफरेन्स पैदा करते है।

Difference between Battery and Capacitor 

(बैटरी और कैपेसिटर में क्या अंतर है)

1. Release of Energy(रिलीज ऑफ एनर्जी)

मतलब- जैसे मैने आपको शुरूवात में बताया था की कैपेसिटर और बैटरी दोनो ही इलेक्ट्रिकल एनर्जी अपने अंदर इकठ्ठा करते है, यह इन दोनों की एक समानता है। परन्तु यह दोनो उस एनर्जी को अलग-अलग तरीके से रिलीज करते है, मतलब एनर्जी को वापस से सर्किट में यह अलग अलग तरीके से भेजते है।

उदाहरण- जैसे हमारे पास में एक 9 वोल्टेज बैटरी है, तो वह बैटरी काफी समय समय तक हमको 9 वोल्ट की सप्लाई देती रहेगी और धीरे धीरे इलेक्ट्रिकल एनर्जी को रिलीज करती रहेगी।
परन्तु अगर हम कैपेसिटर की बात करे, तो यह एक बार में ही सारी स्टोर एनर्जी को रिलीज कर देता है। मतलब सिस्टम में भेज देता है। कैपेसिटर को हम बैटरी की तरह उपयोग में नही ले सकते है

बैटरी और कैपेसिटर के बीच दूसरा अंतर

2. Amount of Energy Store(अमाउंट ऑफ एनर्जी स्टोर)
मतलब- बैटरी और कैपेसिटर दोनो के अंदर इलेक्ट्रिकल एनर्जी को इकठ्ठा करने की कैपेसिटी अलग अलग होती है। कैपेसिटर अपने अंदर ज्यादा इलेक्ट्रिकल एनर्जी को स्टोर नही कर सकते है। लेकिन बैटरी के अंदर काफी ज्यादा इलेक्ट्रिकल एनर्जी को स्टोर किया जा सकता है।

 यह भी पढ़े (Also read) 
What is Corona Effect (कोरोना क्या है)
Motor Types कितने प्रकार की होती हैं

तो दोस्तो उम्मीद है, आज आपके Difference and similarity between Battery and Capacitor से जुड़े कई सवालो के जवाब मिल गए होंगे। अगर आपके अभी भी कोई सवाल इंजीनियरिंग से जुड़े है, तो आप हमे कमेन्ट करके जरूर बताये।

इंजीनियरिंग दोस्त (Engineering Dost) से जुड़ने के लिए आपका धन्यवाद।

अगर आप इलेक्ट्रिकल की वीडियो हिन्दी मे देखना पसन्द करते है, तो आप हमारे YouTube Channel इलेक्ट्रिकल दोस्त को जरूर विजिट करे।

17 COMMENTS

  1. Jb se maine ye study krna shuru kiya hai,, tb se mujhe bahut kuch knowledge hua hai,, nhi to mai diploma krke jb se passout hua hu, tb se mujhe utna basic knowledge nhi tha jitna ab hua hai,, thank you,, aur bhi aise hi upload krtey rho

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here